QUIZ

Quiz Questions

Question:-

श्री बीतक साहिब में वनमाली सुन्दरसाथ किस सेवा के लिए याद किए जाते हैं

Full Name
Phones Number
Your Answer

Answers of Previews Questions
# Question Answer
1 श्री कुलजम वाणी में सबसे पहले कौन सा प्रकरण उतरा वोह किस किताब में है श्री कुलजम वाणी में सबसे पहले श्यामा जी के सिनगार का प्रकरण उतरा ओर वो श्री रास किताब में है
2 शास्त्र श्रवण श्री मद् भागवत बुद्ध जाग्रत को ज्ञान यह कौन सी भागवत है शास्त्र श्रवण श्रीमद् भागवत बुध जागृत का ज्ञान श्री कुलजम सरूप साहिब की रास किताब जिस में राजजी का श्रृंगार, श्यामाजी का श्रृंगार सखियों का श्रृंगार का वर्णन है जो सुपन की भागवत में नहीं है
3 सांविलया ठाकुर को श्रीजी की पहचान कब हुई जब श्रीजी साहेब जी हब्सा में थे और वहाँ जब वाणी अवतरण प्रारंभ हुआ तब सांवलिया ठाकुर को श्रीजी की पहचान हुई
4 श्री मिहिराज ठाकुर जी कितनी बार किस प्रसंग में जेल गए 3 बार पहला अरब से आने पर दूसरा बिहारी जी की चुगली करने पर तीसरा टैक्स न चुकाने पर
5 श्री राज के बाद किसने सबसे पहले योगमाया में देह को धारण किया था श्री राजजी के बाद श्यामाजी ने योगमाया में देह धारण किया । योगमाया नो देह धरी ने, श्री श्यामाजी थया तैयार । तत्खींन तिहा तेणे ठामे, मारे साथे कीधो सिनगार ।।
6 24 हांस का मोहोल परमधाम में कहाँ सुशोभित है और उसकी क्या विशेषता है 24 हांस का मोहोल हौज कोसर के दक्षिण में सुशोभित है चांदनी से 24 धाराओ के साथ झरने के रूप में जब पानी नीचे कुण्ड में गिरता है तो बहुत सुहावना लगता है
7 श्रीजी साहिबजी ने बीतक में कहाँ पर मेहर का वर्णन करके सुन्दरसाथ को बताया था आकोट में
8 ब्रज रास और जागनी ब्रह्मांड में श्री राज जी का आवेश किसके साथ आया Brij raas main akshar ki atam me sath or jagni main shyama ji ke sath
9 रंगमहल की कौन सी भोम में चार हाथ ताली के हिंडोले शोभा दे रहे हैं आठवीं भोम में
10 जवेरों के महल कितनी भोम ऊँचे आये हैँ पिया जी हमें किस दिन यहाँ लाते हैं Javero ke Mahal 4, 8, 16, 32, 64, 32, 16, 8, 4 Ke Uche he. Hm sabh Sakhian Shri Rajshyama ji ke sang Sukal Paksh ki 12 ko Jate he ji Parnam ji
11 श्री रास वाणी के पहले पांच प्रकरण कहां उतरे रास वाणी के पहले पांच प्रकरण दीप बन्दर मे जयराम भाई के घर अवतरित हुए ।
12 साहेब आए इन जिमी कारज करने तीन। यह तीन कारज कौन से हैं (1) धमाँ के भेदभाव मिटाकर एक परब्रहम की पहचान (2) जाति के भेदभाव मिटाने के लिये हिन्दू-मुसलमान के (3) नसली और नजरी में गादी प्रथा नाबूद करने लिये
13 श्री जी साहिब जी अपने मोमिनों के साथ कहाँ से होते हुये और कब मंदसौर पहुंचे थे Shri ji shaib ji apne momino ke sath udepur se hota hue sampat 1736 (sun1679 ishvi) khatam hua .tatha 1737 (1680) arambh hua tha shri prannath ji paunche
14 केल पुल कितनी भोम का है और हरेक भोम में कितने चौंक सुशोभित हैं केल पुल पाँच भोम का है और हरेक भोम में 100 चौंक सुशोभित है
15 भूल भुलवनी रंगमहल की कौन सी भोम की किस दिशा में सुशोभित है दूसरी भोम के उत्तर में ईशान कोना की तरफ बाहरी हार मन्दिरों की भीतरी तरफ चार चोरस हवेली की सोलह हवेलियों की जगह पर
16 श्री राजस्यामा जी कौन से दिन छोटी रांग में आकर रूहों के साथ लीला करते हैं श्री राज श्यामा जी शुक्ल पक्ष की नवमी को छोटी राग मे आकर रूहो के साथ लीला करते है ।
17 श्री जी साहिब जी का श्री छत्रसाल से मिलाप कहाँ पर हुआ था मऊ मे तिदुंनी दरवाजे पर महामति श्री प्राणनाथ जी का महाराजा श्री छत्रसाल से मिलाप हुआ था
18 लाल चबूतरे को लाल ही क्यूं कहा गया है और इसके सामने कितने अखाड़े आए हैं क्योंकि यह एक ही हीरे लाल माणिक का सुशोभित है इसलिए इसको लाल चबूतरा कहा है और इसके आगे 1600 अखाड़े आये हैं
19 सिनगार ग्रन्थ के 26वें प्रकरण का Heading कलस का कलस से क्या अभिप्राय है श्री कुलजम वाणी ही इस ब्रह्माण्ड का कलस है और उसका कलस सिनगार ग्रन्थ है क्योकि इसमें श्री राज स्यामा जी के सरूप सिनगार का वर्णन है और उनकी पूरी पहचान समाहित है
20 परमधाम में कितने सागर हैं उनके नाम और वोह किसके प्रतीक हैं 8 सागर हैं नूर नीर खीर दधि घृत मधु रस सर्वरस ये सारे सागर श्री राज जी महाराज की शोभा के प्रतीक हैं
21 परिकरमा ग्रन्थ के 9वें प्रकरण के शीर्षक में चौंसठ पांखड़ी क्या है हौजकौसर के ताल मध्य जो टापू मोहोल आया हैं उसकी शोभा चौसठ पांखड़ी के फूल जैसी लगती है
22 वाणी में आत्मा की शोभा का वर्णन आता है वोह आत्मा की शोभा क्या है बताईए कुरबानी साथ जी शोभा देखिए करे कुरबानी आत्म। वार डारों नख सिख लों ऊपर धाम धनी खसम।
23 परमधाम में ऐसी कौन सी जगह है जहाँ खजाने का ताल आया है। पुखराज की तरहटी में जो ताल सुशोभित है उसे ही खजाने का ताल कहा गया है
24 बट पीपल की चौकी की एक भोम में 75 पेड़ आये हैं तो कौन सा एक पेड़ कम आया है पीपल का
25 चिन्तामणि का नाम बदल कर श्री जी साहिब जी ने क्या रखा? सामलदास
26 श्री महामति खिताब किसने किसको कहाँ पर दिया वाणी में महामति किस ग्रन्थ से आया धामधनी जी ने खुद श्री इन्द्रावती को महामति का खिताब अनूप शहर में दिया और प्र. हि. के ३२वें प्र. के अन्तिम से महामति आना शुरू हुआ
27 12 मोमिनों के पास श्रीजी की पाती किन सुन्दर साथ ने पहुँचाने की सेवा की थी। कान्ह जी भाई और शेख बदल सुन्दरसाथ
28 Kuran ke anusar allah ke 7 din kon se hai Allah ke saat din 1- Hood nbi ka ghar (brij) 2- Nooh nbi ka ghar ( raas) 3- Muhammad sahib ka Arab Main 4- Issa rooh allah (dhani shri devchander ji) 5- Imam menhdi ( swami shri Prannnath ji) 6- Momino ka din 7- Jumme ki nimaz ka din ( sab ko bahisht milegi)
29 Hajrten haj it kari lene ko makka fate kari dajjal ki kooch kare darul baka is chopai main makka kya hai dajjal kya hai or darul baka kya hai short main answer de मक्का नवतन पुरी को कहा है दज्जाल बिहारी जी के अन्दर बैठे कलयुग को दारुल बका पन्ना जी को कहा है
30 Deepbander main kis dajjal se ladai hui thi or kis sundersath ka parivar imaan par dat kar khara raha दीप बन्दर में चुगलखोर रूपी दज्जाल से लड़ाई हुई और जयराम भाई कंसारा का परिवार ईमान पर डटकर खड़ा रहा।
31 Lal Darwaje ki haweli main shri ji sahib ji ne kin sundarsath ko kahan or kis kaam ke liye jane ka hukam kiya tha लाल दरवाजे की हवेली में श्री जी साहेब ने लालदास और गोवर्धन दास जी को मुल्ला के पास -कुरान की हकीकत जानने के लिये भेजी था।
32 परमधाम में श्री जमुना जी कहाँ से प्रगट होती हैं परमधाम में जमुना जी रंगमहल की उत्तर दिशा में पुखराज पहाड़ की पूर्व दिशा में स्थित मूल कुंड से प्रकट होती है
33 श्री राजी महाराज ने कहाँ बैठकर तीनों खेल दिखाने की पूरी planning की shri raj ji na teji bhom ki parsal ke nelo na pelo ka beech wala mandir ma beth kar khel dekhana ki planing ki thi 12 se 3 dopahar ko
34 दोऊ अर्स कहे दोऊ हादियों singar granth ke 29ve prakaran ki 115vi chopai ka pehla charan hai swal yeh hai ki do hadi kon or do arsh kon se hai Basri or MalKi dono surat ko Hadi kaha hai inhone hi sare sansar ko Akshardham or Paramdham dono arshon ki baat batai shri Rajji Maharaj Indravati ji ke dham hridye main baithkar isi prakaran ki 88 no chopai main kehte hai ki maine hi in dono basri or malKi hadiyon se duniya main apni apne ghar ki or roohon ki sari gwahiyan dilwai hain
35 सुन्दर साथ जी निसवत क्या है ? Ek tan ek ang or ek dili ke mool akhand sambandh ko hi niswat kehte hain jis tarah se ek tan ke hath paanve mukh netra nasika sab ang milkar ek ang kehlate hai usi tarah se shyama ji or hum roohe shri rajji ke ang hone se unki angna kehlati hai isi mool sambandh ko niswat kehte hai jaise suraj apni kirno se or sagar apni lehron se chah kar bhi alag nahi ho sakta isi tarah hum apne piya se alag ho hi nahi sakti yahin hamari niswat hai
36 Sundersath ji Sindhi Kitab main ek prakaran hai Ashiq ke Gunaah usko paden or short main batayen ki ashiq ke kon se gunah hai श्री राज जी महाराज जी के सुखो को दुसरो को बताना गुनाह हैं अहकार (मै) मन मे लाना गुनाह है आपने दोषो को देखकर न मानना भी गुनाह है
37 Paramdham main Paschim ki chaugan kaha hai aur hum RajShyama ji Ke sath Kon se din jate hai or kya lila karte hai or lila ke baad jhilna kahan karte hai Paschim ki Chaugan Rang Mahal ki Paschim Disha Mein hain Hum Shri Raj Shyama ji ke sath Krishan paksh ki Panchami ko Jate Hain aur Yahan Par Hum Raji ke sath Pashu pakshiyon par Sawaari Karte Hain aur uske baad jawero ke mehlo mein Jhilna Karte hai
38 रास की रामतों में श्री राज जी महाराज ने कैसा भेष धारण किया था पूरा विवरण करें Vala ji ka Singar Natwar Bhesh wala he ji Shish pr Mukat peeth pr choti Mustak pr pile rang ka tika Patauli Sinduriya rang ki he kinaro me bail Buti bich me flower aye he Gale me 4 Haar aye Suthni pile rang ki he Niche ke bhag me barik chunt me Nago ki shobha ati pyari he 9 rang ka Nalla aya he Charno me Jhanjhri Ghungri Kambi Kadla Charnno ki Adia aur Lank Laal hain
39 24 haans ka mohol paramdham main kahan shobhayman hai Shri Raj Shyama ji hum sakhiyon ko kon se din yahan ghumane laate hai 24 Hans ka mohol Rang Mohol ki Dakshin Disha main hauj Kausar ke Dakshin Disha Mein Aaya Hai Hum shukal Paksh ki Tervi 13vi Din Yahan ghumne Jate Hain Parnam ji
40 Pragte shri nand kumar sajni aaj badhai briz ghar ghar yeh prakaran swami shri prannath ji ne kahan par utara उज्जैन में जब 23 दिन तक भंडारे चलते रहे तो ब्रज की लीला जैसा अहसास होने लगा उस समय ये किरंतन उतरा प्रगटे श्री नन्द कुमार सजनी आज बधाई बृज घर घर
41 Pannaji mai 8pohor ki sewa mai konsa sundersath sandhya arti mai apne jhole main se jhanjhri khartal chaine sabko bajane ke liye nikal kar deta hai jara is sundersath ko yaad karte hue unka naam batao झांझ ताल आदि संध्या आरती में बजाने वाले यंत्रों को अपनी थैली में से निकालकर देने की सेवा दगड़ा भाई करते हैं
42 Noor Baag ParamDham Main Kahan Hai or uski kya shobha aai Hai.Rangmahal se Noor Baag main Jane ka kya rasta aya hai Noorbag Rangmahal ke pashchim main Jamin se lagta1500 mandir ka lamba chora 100 bagichion ki shobha liye hai1bagiche main16bagiche hai chehbache nehren flowers or favarron ki shobha or khas Jo 66000 nuri thamb hai unki kirno ki shobha nahi kahi ja Sakti inhi par foolbaag hai Rangmahal ki pashchim ki rounce se lagte 10bagichon main10sidiyan noorbag main utarti hain noorbag ke baki 3side main badovan ke vriksh 5bhom ke unche hai inke jhulon mai baith ke rooh noorbag or foolbag ka anand leti hai
43 श्री बीतक साहिब में आवासी बन्दर की बीतक में श्री जी ने हमें क्या सिखापन दिया सिखापन पीना तम्बाकू छोड़ दो मांस मछली सब शराब और सब कैफ परदारा चोरी न कब
44 परमधाम में बट पीपल की चौकी कहाँ शोभायमान है इसकी पूरी शोभा बताईए B.P.ki chowki Rangmahal ki Dakshin Disha main hai 15 chowk ki 5 hare total 75 chowk. 1500 Mandir lambe 500 mandir chode.Hum Krishan paksh ki teej ko jate hai har chowk ki charo disha me 4 nahare aur 4 kono me 4 chehbache aye hai.nehro ke dono trf kamar bhar unchi rons h.jisse chowk me 4 disha or kono me sidiyan utari h.sidiyon ki jgha chod kr katheda aaya h.sbi chehbacho se rangbirange 5-5 favare nikal rhe h. sbi naharo ke beach me pul aaya h.ek chowk ke beach me bat ka vriksh or dusre me pipal
45 औरंगजेब को पैगाम देने गए 12 मोमिनों के नाम बताइए सुन्दरसाथ जी। 1 laldasji 2shekhbadal 3 kayamull 4 bhimbhai 5 sombhai 6 nagjibhai 7 khimabhai 8dayaramji 9 chintamaniji 10 chanchaldasji 11 gangaramji 12 banarasdasji
46 Lail-Tul-kadar ki Ratri kisko kehte hain Bataiye Sundersath Ji. व्रज रास और जागनी की लीला के समय को तीन तकरार भी कहा है । वही लैल तूल कद्र की रात कहा गया है । प्रणामजी
47 Lal Chabutra ke aage ishan kone ki taraf jo 10 hans ki jagah baki hai usmain kya sushobhit hai or usmaim ek or khasiyat bhi hai woh kya hai bataiye sundersath ji Khadokali Aur Tadwan ke Vriksh Hai or Usme khasiyat ye hai ki jo hindole lage vo 10 Bhom ki Uchai se Aa rahe hai.
48 लाल चबूतरा परमधाम में कहाँ आया है और ये कितने हांस में सुशोभित है? लाल चबूतरा रंममहल की उत्तर में रौंस के साथ वायव्य कोने से ईशान कोने की तरफ 40 हांस का लम्बा और 1 हांस का चौड़ा आया है।
49 Paramdham main kitne sagar hai unke naam batao Paramdham Main 8 Sagar Hain. Noor sagar ( Raji ke mukhar band ki Shobha-Safed Rang.) Neer Sagar ( Roohon ki Shobha-Laal Rang) Kheer Sagar (Ek Dili - Peela Rang) Dadhi Sagar (Raji Shyama Ji ka singar Hara Rang) Ghrit Sagar ( Ishq sagar -Aasmani Rang) Madhu Sagar ( Ilam Sagar -Shyam Rang) Ras Sagar( Nisbat Shyama Ji ka Sagar- 10 Rang) Sarvas Sagar (Meher Sagar - Anant Rang)
50 Dev chander ji ko Shri Raj ji Maharaj ne kitni baar didar diye or kahan kahan yeh bhi bataiye. 3 times. 1.pathan ke roop me. 2.chitvani me jab ghooghri ka prasad diya. 3.shyam ji ke mandir me
51 Laldas ji ko swami ji ke pass kon sundersath lekar gaya tha uska naam bataiye Chatura pohokarna
52 Shri Kuljam Swroop Sahib Main Sabse chota prakaran kon sa hai or kon si kitab main hai Shri kuljam swaroop sahib me sabsa chota prakaran Aavo ji wala hai raag shri kaafi prakaran 45 KIRANTAN ye prakaran sirf 3 chopaiyo ka hai
53 Paramdham main esi kon si jagah hai jahan Shri Rajshyama ji sabse jyada samay rehte hain Tisri Bhom ki Padsaal Main
54 Rangparwali mandir main shyan ke samay kon si disha main Shri yugal swroop ji ke charan kamal or kis disha main shish kamal hota hai Shri Yugal Swroop Ji Ke Charan Kamal Uttar disha ko Or Shish Kamal Dakshin Disha Ko
55 रंगमहल में रंग परवाली मन्दिर कहाँ सुशोभित है Rangmohol ki panchvi bhom me Madhya me Jo 9 chauk aye hai uske Madhya vale chauk ke Madhya me Rangparvali mandir sushobhit hai.
56 श्री महामति और श्री प्राणनाथ जी में क्या अन्तर दै Shri Mahamati ka Khitab Shri Indirawati Ji Ko Mila hai. Dusra 5 Shaktiyon ke smooh Ko Shri Prannath ji kaha gaya hai Jinhone is Khel main sab Roohon Ko Mool swoop Shri Raj Shyama Ji ki puri pehchan karwai hai.